Sad Shayari Life 2 Line | सैड शायरी हिंदी 2 Line 

Join Telegram
Instagram Page
5/5 - (1 vote)

Sad Shayari Life 2 Line: नमस्कार दोस्तों अगर आप लोग इंटरनेट पर सैड शायरी हिंदी 2 Line मे डुंड के थक चुके हैं तो आप हमारी वेबसाईट पर sad shayari😭 life 2 line मे देख सकते हैं ओर इनको डायरेक्ट copy or paste भी कर सकते हैं।

Table of Contents

ADVERTISEMENT

सैड शायरी हिंदी 2 line

सैड शायरी हिंदी में चाहिए तो आप हमरे इस वेबसाईट मे ऐसे बोहोत से सैड शायरी हिंदी 2 line देख सकते हैं जो आपके टूटे दिल के लिए एक दवा का काम करेगे ।

Sad shayari😭 life 2 line

आप इन सायरी को अपने व्हाट्सप्प मे direct कॉपी पेस्ट करके या शेयर करके उसे कर सकते हैं इन सैड शायरी हिंदी 2 line का उपयोग बोहोत से लोग status बनाने के लिए भी करते हैं अगर आप भी स्टैटस बनाना चाहते हैं तो आप इनका उपयोग कर सकते हैं।

प्यार में अक्सर ऐसा होता है,

जो सबसे ज़्यादा लव करता है वही रोता है।

कुछ पता नही ये दिल सुधर गया,

या किसी की मोहब्बत में बिगड़ गया।

परवाह नहीं चाहे ज़माना कितना भी खिलाफ हो,

चलूँगा उसी राह पर जो सीधी और साफ़ हो।

ADVERTISEMENT

हमे रुलाने वाले वही है जो कहते थे,

तुम हँसते हुए बहुत स्वीट लगते हो।

वो सोचती होगी बड़े चैन से सो रहा हूँ मैं,

उसे क्या पता ओढ़ के चादर रो रहा हूँ मैं !

बेहिसाब मोहब्बत के सिवा कुछ भी नहीं,

चाहे तो मेरी सोच की तलाश ले लो !

जुबां को रोको तो आँखों में झलक आता है,

ये जज्बा-ए-इश्क है जनाब इसे सब्र कहाँ आता है !

अगर मोहब्बत नही थी तो बता दिया होता,

इस दिल को टूटने से बचा लिया होता !

मुझे छोड़कर वो खुश है तो शिकायत कैसी,

अब मैं उन्हें खुश भी ना देखूं तो मोहब्बत कैसी !

गलती होने पर साथ छोड़ने वाले तो बहुत मिलते है,

पर गलती होने पर अपना समझाकर साथ निभाने वाले बहुत कम मिलते है।

जैसे कोई बच्चा रोते-रोते थककर सो जाता है,

हमारे दिल का हाल अक्सर कुछ ऐसा ही हो जाता है।

Related Post

झूठे वादों में किसी के ऐसे पीस गए,

सीने के दर्द को दबा कर हम हंसना सीख गए।

सही नहीं की कुछ चीज़े, डर कर इस जमाने में,

पूरी उम्र निकल गई उन्ही, गलतियों की कीमत चुकाने में।

परवाह नहीं मेरी, तो नजर क्यों रखते हो

मैं किस हाल में जिंदा हूं, ये खबर क्यों रखते हो।

जिन्दगी की हकीकत बस इतनी सी है,

की इंसान पल भर में याद बन जाता है !

अपनी तन्हाई में तनहा ही अच्छा हूँ

मुझे जरूरत नहीं दो पल के सहारो की !

लोग कहते है हर दर्द की एक हद होती है,

शायद उन्होंने मेरा हदों से गुजरना नहीं देखा !

शिकायत तों मुझे खुद से है,

तुझसे तो आज भी इश्क है !

अब मेरे घर के उदास दरवाजे मत खोलो,

हवा का शोर मेरी उलझन बढ़ा देता है।

तुम ना समझे थे और ना समझना चाहते थे,

हमारे दिल में क्या है कभी पूछना नहीं चाहते थे।

उनकी खामोशियां बोल देती है जिनकी बात नहीं होती,

प्यार वो भी करते हैं जिनकी कभी मुलाकाते नहीं होती।

ये जो हालात है, एक दिन सुधर जाएंगे,

पर कुछ लोग दिल से उतर जाएंगे।

वो मुझे छोड़कर खुश है तो शिकायत क्यों,

अब मैं उन्हें खुश भी ना देखूं तो प्यार कैसा।

क्या बात है, बड़े खामोश से बैठे हो,

कोई बात से नाराज हो या दिल कही लगा बैठे हो।

Related Post

अब तक समझ नहीं पाया कि आखिर उसकी चाहत क्या है?

जब दूर जाना ही था तो पास आने की क्या जरूरत थी।

जाने दो अब क्या करोगे दिल के अरमान सुनकर,

खामोशी तुम ना समझ पाओगे और ना हम बता पाएंगे।

साथ रहते इतनी मुद्दत हो गई,

दर्द को दिल से मुहब्बत हो गई।

हादसे जान तो लेते हैं मगर सच ये है,

हादसे ही हमें जीना भी सीखा देते हैं !

देख कर उसको तेरा यूँ पलट जाना,

नफरत बता रही है तूने मोहब्बत गजब की थी !

वह जानता था कि मुझे उसकी मुस्कान पसंद है,

उसने जब भी दर्द दिया तो मुस्कुरा कर दिया।

मेरी कोशिश हमेशा से ही नाकाम रही,

पहले तुझे पाने की अब तुझे भुलाने की !

दर्द जो बेहिसाब दिया है आपने,

काश प्यार भी ऐसा ही किया होता !

वो आज फिर से मिले अजनबी बनकर,

और हमें आज फिर से मोहब्बत हो गई !

ये हवाए उड़ा ले गयी मेरी सारी खुशिया,

ऐसा लगता है मुझपे हँस रही है सारी दुनियां !

ये हवाए उड़ा ले गयी मेरी सारी खुशिया,

ऐसा लगता है मुझपे हँस रही है सारी दुनियां !

जब उसका दर्द मेरे साथ वफ़ा करता है,

एक सागर मेरी आँखों से बहा करता है।

नफरत ही नहीं दुनिया में दर्द की वजह,

मोहब्बत भी सकूँ वालों को बड़ी तकलीफ़ देती है।

दुनीया का भी अज़ीब दस्तूर है,

बेवफाई करो तो रोते हैं, वफा करो तो रुलाते हैं।

शोर जहाँ का एक तरफ़ है दिल का तराना एक तरफ़,

सारी दुनिया एक तरफ़ है इक दीवाना एक तरफ़।

वफ़ा की जंग मत करना भूत बेकार जाती है,

ज़माना जीत जाता है मोहब्बत हार जाती है।

हमारा तज़किरा छोड़ो हम ऐसे लोग हैं,

जिन को नफरत कुछ नहीं मोहब्बत मार जाती है।

याद नहीं क्या क्या देखा अपना मंज़र भूल गए,

इतने बम फोड़े है की अपना ही घर भूल गए।

दिल की आवाज़ भी सुन मेरे फसाने पे ना जा,

मेरी नज़रों की तरफ देख जमाने पे ना जा।

इतना अनमोल तो नही फिर भी हमारी कदर करना,

शायद हमारे बाद हम जैसा ना मिले।

मुमकिन नहीं की वो मुझे भुला देगा,

वो हर पल हरदम मुझको दुआ देगा।

ज़िन्दगी में कई सवाल खड़े हो गए,

सोचता हूँ हम क्यों बड़े हो गए.

अजीब है मेरा अकेलापन,

न खुश हूँ न उदास,

बस खाली हूँ और खामोश।

पछतावा होता है उस पल, जब अपनी पसंद,

किसी और की बन जाती है दुल्हन,

सपने हम देखते रहते हैं,

और हकीकत कोई और बना लेता है।

आज मैंने तलाश किया उसे अपने आप में,

वो मुझे हर जगह मिला मेरी तकदीर के सिवा !

दुश्मनो की अब किसे जरूरत है,

अपने ही काफी है दर्द देने के लिए !

​नाराजगी चाहे कितनी भी क्यो न हो तुमसे,

तुम्हें छोड़ देने का ख्याल हम आज भी नही रखते !

जरा सा भी नही पिघलता दिल तेरा,

इतना कीमती पत्थर कहाँ से खरीदा है !

बेशक नजरों से दूर हो,

पर तुम मेरे सबसे करीब हो !

फिक्र तो तेरी आज भी करते हैं,

बस जिक्र करने का हक नही रहा !

तेरे एक खत के इंतजार में हमने,

आजतक अपना पता नही बदला !

मैं आशा करता हूँ की आपको हमरी दी हुई Sad Shayari पसंद आई होगी अगर आपको ऐसी ही ओर Sad Shayari Life 2 Line मे चाहिए तो आप हमारी इस वेबसाईट को अपने दोस्तों के साथ शेयर ओर सेव कर सकते हैं ताकि आपको सायरी मिलती रहे ।